अभी-अभी: मध्यप्रदेश के पूर्व CM शिवराज सिंह चौहान ने राजनीति से सन्यास लेने का कर दिया बड़ा फैसला?लोग बोले मामा अभी…

MP News: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल की है लेकिन इस बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) नहीं बल्कि मोहन यादव ने मुख्यमंत्री (Mohan Yadav New CM) की शपथ ली ली है. इसी के साथ शिवराज सिंह चौहान की विदाई भी हो गई है. वहीं मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान आज सुबह पौधा रोपण करने एक पार्क में पहुंचे थे. जहां पर बड़ी संख्या में पत्रकार भी मौजूद थे. इस दौरान शिवराज सिंह ने पत्रकारों से बातचीत की और कहा कि मोहन यादव को मुख्यमंत्री बनने की बधाई हो.

करोड़ों कमाने के बावजूद भी मुकेश अंबानी की लाड़ली ईशा अंबानी पहनती है पुराने कपड़े, ये है वजह…

शिवराज सिंह लेंगे सन्यास?

इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने एक बड़ा बयान भी जारी किया है जिससे उनके संन्यास लेने की अटकलें भी लगाई जा रही है इस दौरान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री का कहना था कि मोहन यादव को शुभकामनाएं, आज प्रधानमंत्री मोदी पधारे हैं उनका स्वागत है, गृहमंत्री अमित शाह का स्वागत है, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का स्वागत है और मित्रों अब विदा, जस की तस रख देनी चदरिया।

यहां बता दे की 18 साल तक शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. वही मोहन यादव (Mohan Yadav) के मुख्यमंत्री बनने के बाद शिवराज सिंह चौहान के भविष्य को लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं. ऐसे में मंगलवार को शिवराज सिंह चौहान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी और उनसे पत्रकारों ने यहां तक पूछा था कि क्या आप दिल्ली जाएंगे?

शिवराज सिंह का बड़ा बयान

पत्रकारों के द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब में शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) का कहना था कि

“मैं बड़ी विनम्रता के साथ एक बात कहना चाहता हूं कि मैं दिल्ली जाकर कुछ मांगने की बजाय मरना पसंद करूंगा वह मेरा काम नहीं है मैं दिल्ली नहीं जाऊंगा।”

हालांकि बाद में शिवराज सिंह चौहान ने यहां तक भी कहा कि वह पार्टी के हर एक फैसले का पालन भी करेंगे और उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी वह उसको वह भी निभाएंगे। इन सबके अलावा शिवराज सिंह चौहान ने बीजेपी का धन्यवाद भी किया और यहां तक कहा कि आज जब मैं मुख्यमंत्री पर छोड़ रहा हूं तब मेरे मन में संतोष और आनंद का भाव है क्योंकि राज्य में बीजेपी को बेहद बड़ा बहुमत मिला है.

शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय जनता पार्टी की इस बड़ी जीत का श्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और केंद्र एवं राज्य के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को भी दिया था. उन्होंने विशेष रूप से लाडली बहना योजना का भी जिक्र किया था और कहा था की जीत में इसका भी योगदान है.

Telegram Click
Whatsapp Click
मध्यप्रदेश के पूर्व CM शिवराज ने राजनीति से सन्यास लेने का कर दिया बड़ा फैसला?