Fraud प्रूफ अपने Aadhar को बनाने के लिए अपनाएं ये साधारण सा तरीका, इसके बाद नहीं लीक होगी आपकी जानकारी

आज मोबाइल सिम कार्ड लेने से लेकर होटल और फ्लाइट बुकिंग तक हर सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए आधार का इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसे में अगर आपका आधार नंबर किसी जालसाज के हाथ लग जाए तो आपकी कई अहम जानकारियां लीक होने का खतरा बढ़ जाता है। इसी वजह से विशेषज्ञ अक्सर सलाह देते हैं कि मैक्स आधार का इस्तेमाल किसी भी सार्वजनिक स्थान पर करना बेहतर है।

मैक्स आधार का फायदा यह है कि इसमें आपके आधार के पहले आठ अंक छिपे रहते हैं। साथ ही पते जैसी महत्वपूर्ण जानकारी भी पूरी तरह गुप्त रहती है. मास्क आधार पूरी तरह से वैध है और आप इसका इस्तेमाल किसी भी सरकारी या गैर सरकारी जगह पर कर सकते हैं। हालांकि, यहां ध्यान रखने वाली बात यह है कि बैंक, बीमा या ऐसी अन्य जगह जहां पूरे आधार नंबर की जरूरत होती है, वहां मास्क्ड आधार काम नहीं करेगा।

आधार जारी करने वाली सरकारी एजेंसी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, मास्क आधार आपको डाउनलोड किए गए ई-आधार में अपने आधार नंबर को मास्क करने का विकल्प देता है। मास्क आधार में, आपके आधार नंबर के पहले 8 अंक छिपे होते हैं और केवल अंतिम चार अंक दिखाए जाते हैं।

मास्क आधार कैसे डाउनलोड करें?

  • आप यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाकर आसानी से मास्क आधार डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इसके लिए सबसे पहले आपको UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपको अपना आधार नंबर या रजिस्ट्रेशन नंबर या वर्चुअल आईडी दर्ज करना होगा और ओटीपी पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको एक विकल्प दिखाई देगा, जहां आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप मास्क को बेस बनाना चाहते हैं। इसके बाद ओटीपी डालें.
  • अब आपको वेरिफाई एंड डाउनलोड पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप मास्क आधार डाउनलोड कर लेंगे.

Leave a Comment

x